*** Welcome to bamleshwari.org ***

About 2200 years ago, Dongargarh was a fairly renounced territory named Kamavati ruled by Maharaja Kamsen also called Kamakhya Nagri. When his Queen gave birth to a son they named him Madansen. Since Raja Veersen considered it a blessing of Lord Shiv & Parvati, he constructed the temple of Shri Bamleshwari Mandir at Dongargarh. Now Raja Madansen had a son named Kamsen because of whom the area became famous and came to be known as Kamakhaya Nagari.

A big battle took place between Raja Kamsen and Raja Vikramaditya, reason being the love between Maadhavnal & Kaamkandla, which led to the complete destruction of KAMAVATI. Legend has it that after the death of Maadhavnal & Kaamkandala, Raja Vikramaditya felt guilty as he thought that he was responsible for Kaamkandala committing suicide. He underwent deep anguish and started constant worship, resulting in Maa Bagulamukhi Devi appearing before him.

Raja Vikramaditya requested the goddess to make both Maadhavnal and Kaamkandala alive again and also asked Maa Bagulamukhi Devi to stay at the temple. Since then it is believed that Maa Bagulamukhi Devi is present here. As time passed by the name got transformed from Maa Bagulamukhi to Maa Bamlai to Shri Bamleshwari Mandir as it is known today.

Current News
  • श्री बम्लेश्वरी मंदिर ट्रस्ट समिति, डोंगरगढ़ द्वारा संचालित धर्मार्थ चिकित्सा में प्रतिमाह डॉ. जे. ऎस. खालसा नेत्र विशेषज्ञ धमतरी क द्वारा, निः शुल्क लेंस प्रत्यारोपण किया जाता है । जिसके अंतर्गत दिनांक 10 जनवरी 2014 दिन शुक्रवार को आँखों कि जाँच एवं दिनांक 11 जनवरी 2014 दिन शनिवार को आँखों का लेंस प्रत्यारोपण किया जावेगा । आँखों से सम्बंधित मरीज दिनांक 10 जनवरी 2014 दिन शुक्रवार को मंदिर चिकित्सालय में उपस्थित होकर आँखों कि जाँच करा सकते है |
    • श्री बम्लेश्वरी मंदिर ट्रस्ट समिति, डोंगरगढ़ द्वारा 31 मार्च से 8 अप्रैल तक चैत्र नवरात्री पर्व मनाया जावेगा माता क जो भक्त जन विशेष व्यवस्था क तहत ऊपर मंदिर में ज्योति कलश प्रज्वलित करना चाहते है वो 15 जनवरी 2014 से ज्योति राशि जमा कर सकते है । ज्योति राशि ट्रस्ट के समस्त कार्यालय में 15 जनवरी 2014 से 1101 /= रूपये नगद, बैंक ड्राफ्ट, मनी आर्डर या कोर बैंकिंग क द्वारा जमा करवाकर रसीद प्राप्त करवा सकते है, कोर बैंकिंग के माध्यम से राशि जमा करने के पश्चात् ट्रस्ट के कार्यलय में सूचित कर नाम व् मोबाइल नो नोट करना अनिवार्य है, यह व्यवस्था माताजी के भक्तजनो को विशेष सुविधा तहत दी जा रही है
    • मकर संक्रांति के अवसर पर शोभा यात्रा एवं छत्तीसगढ़ प्रदेश स्तरीय रामायण प्रतियोगिता 14.01.2014 को 28 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्षय में किया जायेगा । श्री बम्लेश्वरी मंदिर ट्रस्ट समिति, डोंगरगढ़ द्वारा मकर संक्रांति के पावन पर्व पर विगत 28 वर्षो से चला आ रहा हरी संकीर्तन कार्यक्रम के शुभारम्भ दिवस की 28 वीं वर्षगांठ पर विभिन्न कार्यक्रम का आयोजन किया जावेगा । इस हेतु ट्रस्ट द्वारा छत्तीसगढ़ प्रदेश स्तरीय राउत नाच पार्टी, आदिवास नाच पार्टी , रामधुन पार्टी अवं डंडा नाच पार्टी तथा रामायण पार्टियो से संपर्क किया जा रहा है , इस अवसर पर 14.01.2014 को प्रातः 7 बजे से भगवन श्री राम जी एवं कृष्ण जी कि शोभा यात्रा रामायण मंडलियो सहित नगर के मुख्या मार्गो पर भ्रमण करते हुए नीचे मंदिर में पहुचेगा । तत्पश्चात दोपहर 2 बजे रामायण प्रतियोगिता प्रारम्भ होगी | |
    • श्री बम्लेश्वरी मंदिर ट्रस्ट समिति, डोंगरगढ़ सभी को नए वर्ष की शुभकामनाये देता है, एवं सर्व शक्ति प्रदायनी माँ बम्लेश्वरी देवी से प्रार्थना करती है कि नया साल सभी क लिए खुशहाली, शांति लाये
    Magazines

    Patrika -3